राहुल शर्मा :-मौजूदा चुनावों में कांग्रेस की अगुआई वाला UPA सिर्फ तमिलनाडु में ही मजबूत होता दिखा। इसी के साथ UPA की अब 6 राज्यों में सरकार होगी। इससे पहले वह पंजाब, राजस्थान, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र और झारखंड में सत्ता में है।

  1. केरल
    कुल सीटें: 140
    बहुमत: 71
    इस बार कौन जीता: LDF

नतीजों के मायने

केरल के वोटरों ने पिछले 8 चुनाव से एक बार लेफ्ट और एक बार कांग्रेस को सत्ता देने का अपना ट्रेंड तोड़ दिया।

कांग्रेस के करुणाकरन के बाद लेफ्ट के पिनाराई विजयन ऐसे दूसरे नेता होंगे, जो लगातार दूसरी बार सीएम बनेंगे।

यहां माना जा रहा था कि वोटिंग से 10 दिन पहले लेफ्ट की अगुआई वाला LDF प्रचार में पिछड़ गया है, लेकिन नतीजों पर इसका असर नहीं दिखा।

राहुल ने केरल में तमाम छोटी रैलियां, रोड शो किए। उनके दम पर ही आम चुनाव में कांग्रेस ने यहां की 20 में से 19 सीटें जीती थीं, लेकिन इस बार वे UDF को सत्ता नहीं दिला पाए।

बंगाल से साफ हो चुके लेफ्ट ने केरल में जीत के साथ अपना एक बड़ा गढ़ बचाए रखा है।

  1. पुडुचेरी
    कुल सीटें: 30
    बहुमत: 16
    इस बार कौन जीता: AINRC+भाजपा

नतीजों के मायने

यहां चुनाव से ठीक दो महीने पहले यानी फरवरी में हुआ दलबदल कांग्रेस को भारी पड़ गया। राष्ट्रपति शासन लगने के बाद हुए इस चुनाव में कांग्रेस वापसी नहीं कर सकी।

AINRC के अध्यक्ष एन रंगास्वामी यहां सीएम पद के दावेदार हैं। वे पहले भी सीएम रह चुके हैं।

कर्नाटक और आंध्र प्रदेश के बाद पुडुचेरी दक्षिण का ऐसा तीसरा राज्य होगा, जहां भाजपा सरकार में शामिल होगी।

प्रतिक्रियाएं: मोदी की बधाई, प्रशांत किशोर का संन्यास

चुनाव नतीजों के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोशल मीडिया पर 8 पोस्ट कीं। इनमें पहली पोस्ट ममता बनर्जी के नाम थी। मोदी ने उन्हें बधाई दी और कोराेना के खिलाफ लड़ाई में केंद्र की ओर से हरमुमकिन मदद का भरोसा दिलाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *