अमेरिका ने ग्वांतानामो जेल की किसी समय खुफिया रह चुकी इकाई को बंद किया, दूसरी जगह भेजे गए कैदी

ग्वांतानामो बे जेल के भीतर किसी समय खुफिया रही इकाई को बंद कर दिया गया है और कैदियों को क्यूबा में अमेरिका के दूसरे सैन्य केंद्र की जेल में भेज दिया गया है। अमेरिकी सेना ने रविवार को इस बारे में बताया।

अमेरिकी दक्षिणी कमान ने एक बयान में बताया कि ‘संचालन क्षमता और प्रभाव’ बढ़ाने के प्रयास के तहत ‘कैंप सात’ के कैदियों को पास की एक अन्य जेल में रखा गया है।

मियामी स्थित दक्षिणी कमान क्यूबा के दक्षिण छोर पर स्थित इस जेल की निगरानी करती है। कमान ने यह नहीं बताया कि कितने कैदियों को स्थानांतरित किया गया है। अधिकारियों ने पूर्व में बताया था कि कैंप सात में 14 कैदी थे। ग्वांतानामो जेल में 40 कैदी हैं।

दक्षिणी कमान ने बताया कि कैंप सात के कैदियों को सुरक्षित तरीके से कैंप पांच में पहुंचा दिया गया। कैदियों को कब स्थानांतरित किया गया, इस बारे में नहीं बताया गया। कैंप पांच पूरी तरह खाली था और यह कैंप छह के पास स्थित है जहां अन्य कैदियों को रखा गया है।

कैंप सात को दिसंबर 2006 में खोला गया था। माना जाता है कि यहां पर कैदियों को भीषण यातना दी जाती थी। सेना सीआईए के साथ समझौते के तहत इस जेल का संचालन कर रही थी। दक्षिणी कमान ने कहा कि खुफिया एजेंसियों ने कैदियों को दूसरी जगह पहुंचाया।

सेना सैन्य केंद्र में कैंप सात के स्थित होने की बात से लंबे समय तक इनकार करती रही और पत्रकारों को भी कभी जेल के भीतर नहीं जाने दिया गया। अधिकारियों ने कहा था कि इस कैंप को स्थायी ढांचे के तौर पर नहीं बनाया गया था और इसकी मरम्मत की जरूरत है लेकिन पेंटागन ने निर्माण के लिए रकम खर्च करने की योजना टाल दी।

कैंप सात में रखे गए पांच कैदियों पर 11 सितंबर 2001 के हमले की साजिश रचने और मदद मुहैया करने में कथित भूमिका के लिए युद्ध अपराध के आरोप लगाए गए थे।

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा था कि वह ग्वांतानामो जेल को बंद करना चाहते हैं लेकिन कुछ कैदियों को मुकदमे के लिए अमेरिका लाने या जेल में रखने के लिए संसद की मंजूरी की जरूरत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *